2008-09-05

जिंदगी........ जिंदगी..............जिंदगी


जिंदगी का मतलब...... जेब में चंद रुपये ... दो पुरानी यामहा ओर एक खुली सड़क है ,
जिंदगी का मतलब.... इम्तिहान से पहले की रात ,कभी समझ न आने वाली किताब ओर पाँच बेवकूफों के बीच बंटी एक सिगरेट है ,
जिंदगी का मतलब कुछ ग्रीटिंग्स कार्ड्स ,कुछ बेहूदा कविताये.....लड़किया ओर सिर्फ़ लड़किया है ,

जिंदगी का मतलब सुबह ३.३० बजे की भूख ......होस्टल के कमरे में रखा हिटर्स ओर एक मैगी नुडल्स है ,
जिंदगी का मतलब सर्दियों की एक शाम ,धीमी बारिश ,चार दोस्त ओर गर्म पानी में मिली व्हिस्की है ,
जिंदगी का मतलब ...आधी रात को बजे एक मोबाइल में बरसो से रूठे किसी दोस्त की नशे में रुंधी आवाज है

जिंदगी का मतलब ......................................दोस्ती है





सुबह एक दोस्त का मिला एस .ऍम. एस जिसे पढ़कर एक अधूरी नज़्म को अधूरा रहने दिया ...ओर यहाँ बेतरतीब सा कुछ उडेल रहा हूँ

53 टिप्‍पणियां:

  1. जिंदगी का मतलब ...आधी रात को बजे एक मोबाइल में बरसो से रूठे किसी दोस्त की नशे में रुंधी आवाज है

    बहुत ख़ूब मेरे दोस्त, ज़िन्दगी के इतने रंग देखे..
    पर यह रंग तो याद ही न रहा
    यूँ ही याद दिलाते रहना
    शाबास मित्र

    उत्तर देंहटाएं
  2. आप ने जिस जिंदगी की बात की है वो हर किसी की किस्मत में नहीं लिखी होती.....यकीनन एक हसीन जिंदगी के मंजर पेश किए हैं आपने और वो भी बेहद खूबसूरत अंदाज में, वो अंदाज जो सिर्फ़ और सिर्फ़ आपका अपना है.....
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  3. शायद मुकेश जी की आवाज में सुना था-
    जि‍न्‍दगी का नाम दोस्‍ती, दोस्‍ती का नाम जि‍न्‍दगी।

    आपने हॉस्‍टल के दि‍नों की यादें ताजा कर दी-
    जिंदगी का मतलब सुबह ३.३० बजे की भूख ......होस्टल के कमरे में रखा हिटर्स ओर एक मैगी नुडल्स है ,

    ऐसा लगा जैसे मेरे ही शब्‍द हों।
    शुक्रि‍या।

    उत्तर देंहटाएं
  4. जिंदगी का मतलब ......................................दोस्ती है

    बहुत ख़ूब...

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस बेतरतीब में हमारी जिंदगी के सबसे हसीन दिनों की कहानी है. शायद वही समझ सकता है जिसने वो जिंदगी जी है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. Dr. sahab najm main jindgi ke masti aur allahdpan ki acchi jhalak pesh ki gayi hai .

    उत्तर देंहटाएं
  7. जिंदगी का मतलब सुबह ३.३० बजे की भूख
    बहुत खूब कहा आपने , सच भी है. जिंदगी का मतलब कुछ लोग ही समझ पाये हैं. जो समझ गये वो लुत्फ़ उठा रहे है और जो न समझे वो बस जिए जा रहे है...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत बढ़िया....
    और ज़िन्दगी का मतलब इन बातों को तज़रीह देना....हमें तो लग रहा है जैसे ज़िन्दगी जी ही नहीं.

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी इस रचना में बहुत गहराई है ! अब मैंने जो
    समझा उसको व्यक्त करने के लिए शब्द नही हैं !
    और जो शब्दों में व्यक्त कर सकता हूँ वो मैंने समझा
    नही ! बहुत धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  10. अच्छी प्रस्तुति....शुक्रिया
    डाक्टर साहब.
    ===========
    चन्द्रकुमार

    उत्तर देंहटाएं
  11. जिंदगी का मतलब...... जेब में चंद रुपये ... दो पुरानी यामहा ओर एक खुली सड़क है ,

    अनुराग जी, बाकी तो सब ठीक है पर दो पुरानी यामहा क्यूँ? :)

    उत्तर देंहटाएं
  12. ज़िन्दगी का मतलब निरन्तर चलना और चलते ही रहना तथा अपने आस-पास सुख बिखेरना। सस्नेह

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपने इस बेतरतीब से कुछ को उडेल कर हमारी ज़िन्दगी के बीते लम्हों को सामने ला दिया...
    अब कहाँ हैं वो दिन शायद कभी न आएंगे वो दिन...
    बहुत सुंदर

    उत्तर देंहटाएं
  14. जिंदगी का मतलब.... इम्तिहान से पहले की रात ,कभी समझ न आने वाली किताब ओर पाँच बेवकूफों के बीच बंटी एक सिगरेट है ,
    जिंदगी का मतलब कुछ ग्रीटिंग्स कार्ड्स ,कुछ बेहूदा कविताये.....लड़किया ओर सिर्फ़ लड़किया है ,
    " jindgee ke dfferent rup hain, kise ke liye kuch to kise ke liye kuch hai jindge, aap ke is post mey jindge ke bhut khas kuch ajeb or sach rup smne aayen hain, ek ek lafj jindgee ko jee rha hai, or keh rha hai han mai hee to jindgee hun, mai hee jindgee hun...., bhut sach hai or bhut accha lga"
    few words of mine:
    " ek dhundlee sham mey kise ka antheen intjaar bhee hai jindgee..."

    Regards

    उत्तर देंहटाएं
  15. जिन्दगी का मतलब एक चिट्ठी का जवाब है जिस का हफ्ते भर से इंतजार है और डाकिया हमारा घर भूल गया है।

    उत्तर देंहटाएं
  16. यह भी एक जिंदगी है इससे इतर भी जिंदगी है
    इसपर भी कहीं न कहीं बिखरती सी कोई जिन्दगी है
    हरबार की तरह जिंदगी को समझी नही मैं कभी
    बिना समझे जिया जा सके ऐसी भी कोई जिंदगी है -एक बेहूदा कविता

    उत्तर देंहटाएं
  17. हा हा हा लवली जी सोचती हूँ आपको क्या कहूँ ?
    पहली बात तो ये "फिलोसफी "है ,कविता नहीं
    आपने शायद गौर नहीं किया की अनुराग जी ने लिखा है "बेतरतीब सा कुछ "पर लगता है आप पढना भूल गयी या आपकी समझ में नहीं आया
    दूसरी बात ये दोस्ती का जिक्र है होस्टल लाइफ पर जिसकी पंच लाइन है जिंदगी का मतलब दोस्ती है ,अभिषेक जी लाइन ओर फिरदौस की लाइन पर गौर फरमाये ,पिछली नज़्म पढ़ी आपने ?जिसे कुछ लोग ये सोचकर टिपण्णी कर गए की गुलज़ार की फोटो है तो नज़्म भी इनकी होगी ?ऐसा लगता है टिपण्णी करना सिर्फ शगल है यहाँ (बिना पढ़े)
    अनुराग जी शमा करना आपको पढने आयी थी ये कमेन्ट देखकर हैरान हो गयी .बाकी आप समझा देगे .

    उत्तर देंहटाएं
  18. यह जिन्दगी का वरदान ले कर ही नहीं आये थे शायद!

    उत्तर देंहटाएं
  19. नीलिमा जी बहुत ख़राब हालत से गुजर रही हूँ मुझे कोई टिप्पणी करने का शगल नही है
    बस अनुराग जी को लिखते देखकर सालों पहले लिखी अपनी कविता याद आ गई तो लिख दिया ..बाकि बताना भूल गई की इसका आपकी पोस्ट से कोई संबंद नही है पर अंत में लिखा तो था की एक बेहूदा कविता (जो कभी मैं भी लिखा करती थी )

    उत्तर देंहटाएं
  20. और आपकी जानकारी के लिए कुश की पिछली पोस्ट पर भी मैं ऐसी ही कुछ टिप्पणी कर आई थी ..माफ़ी चाहूंगी अगर आपको मेरा अंदाज पसंद नही आया

    उत्तर देंहटाएं
  21. जिन्‍दगी का मतलब पोस्‍ट लिखना और टिपियाना भी है :)

    उत्तर देंहटाएं
  22. bahut khub.
    jawab nahin.
    jindagi ka badhiya matalab.
    kal main bhi kuch matlab nikalta hun.

    उत्तर देंहटाएं
  23. ज़िन्दगी का मतलब ..इस तरह से बिखरी यादो को याद करना और बंटाना है ..
    इस बेतरतीब पोस्ट में यह पंक्ति ज़िन्दगी के बहुत करीब लगी ..
    जिंदगी का मतलब ......................................दोस्ती है

    उत्तर देंहटाएं
  24. 1969 की फिल्म सत्यकाम याद आ गई जिसमे धर्मेंद्र, आसरानी और संजीव कुमार मिल कर जिंदगी पर गीत गाते हैं कि जिंदगी है क्या....जिंदगी है लट्टू...जिंदगी है लडकी...और फिर कहते हैं...लट्टू नहीं है...लडकी नहीं है...जिदंगी है सच्चाई...मिट्टी की मूरत जब सच बोली, आदमी है कहलाई...।

    उत्तर देंहटाएं
  25. जिंदगी का मतलब...... जेब में चंद रुपये ... दो पुरानी यामहा ओर एक खुली सड़क है ,
    जिंदगी का मतलब.... KUCH ASI HI HAI APNI BHI ZINDAGI...

    उत्तर देंहटाएं
  26. अनुराग जी लिखने की यही अदा मुझे आपके पास ले आई थी। आपने एक साथ कई जिदंगीयों से रुबरु करा दिया।

    जिंदगी का मतलब ...आधी रात को बजे एक मोबाइल में बरसो से रूठे किसी दोस्त की नशे में रुंधी आवाज है

    और

    जिंदगी का मतलब.... एक तलाश

    उत्तर देंहटाएं
  27. सही है। जिंदगी का मतलब अगले एस.एम.एस. का इंतजार!

    उत्तर देंहटाएं
  28. @नीलिमा जी ....१० दिन पहले आपके मिले मेल में जिसमे आपने शिकायत की थी मै अब ब्लॉग पर नज़्म नही लिखता ...कुछ ऐसी ही शिकायत पल्लवी जी ,मीता जी ओर रक्ष्नान्दा ने की थी सो मैंने सोचा चलो अगली तीन चार पोस्ट नज़्म ही डाल दूँगा ...लेकिन आज सुबह जब एस ऍम एस मिला तो बस गाड़ी चलाते चलाते ये फितूर आ गया ....शायद रात को z स्टूडियो पर देखी "मोना लिसा स्माईल "का असर था .....
    भारतीय ज्ञान पीठ पुरूस्कार से सम्मानित ओर पदम् श्री पुरूस्कार से नवाजे गए कश्मीरी कवि "रहमान राही "साहब ने दो कविताएं जरूर लिखी थी जो कुछ इस तरह से शुरू होती थी .....जिंदगी -एक अंधी घुट मुंडी बूढी डायन!,ओर दूसरी जिंदगी -एक सुंदर औरत ओर मादक शराब !

    अगरचे:ये ना कोई कविता है न कोई नज़्म .......महज़ लफ्फाजी है ओर यूँ कहे की बस दोस्ती है.....

    उत्तर देंहटाएं
  29. जिन्दगी का मतलब हे किसी की आंख से एक आंसु पोछ लेना, बदले मे उसे एक मुस्कुराहट दे देना !!!
    धन्यवाद अनुराग जी , एक लाईन जोडने के लिये माफ़ी चाहुगां,

    उत्तर देंहटाएं
  30. kya baat hai sir
    lagta hai zindagi tab se ab tak kuch khasa nahi badli hai ...hum aaj bhi wakai..maggi aur heater payenge hostel k kamron mei..........

    :)

    उत्तर देंहटाएं
  31. सीमित शब्द-असीमित भावनाऐ‍ं. उच्च कलम-गहरी बात!!!

    क्या कमाल है डॊक्टर साः आपका. बहुत खूब!!

    आपका मंच बिना पूछे एक सार्वजनिक निवेदन के लिए कर रहा हूँ.

    निवेदन

    आप लिखते हैं, अपने ब्लॉग पर छापते हैं. आप चाहते हैं लोग आपको पढ़ें और आपको बतायें कि उनकी प्रतिक्रिया क्या है.

    ऐसा ही सब चाहते हैं.

    कृप्या दूसरों को पढ़ने और टिप्पणी कर अपनी प्रतिक्रिया देने में संकोच न करें.

    हिन्दी चिट्ठाकारी को सुदृण बनाने एवं उसके प्रसार-प्रचार के लिए यह कदम अति महत्वपूर्ण है, इसमें अपना भरसक योगदान करें.

    -समीर लाल
    -उड़न तश्तरी

    उत्तर देंहटाएं
  32. zindagi ka matlab...khatti mithi yaadon ko jodna aur raat ke sannate mein beete lamho mein lautna...

    zindagi ka matlab...yaaron ke saath aane wale kal ke sapne dekhna...

    उत्तर देंहटाएं
  33. सचमुच ज़िन्दगी का मतलब दोस्ती है...दोस्ती में प्रेम है जो सत्य है.

    उत्तर देंहटाएं
  34. एक शेर नज्र करता हूं
    बेसाख्ता बातें भला तरतीब क्या जाने
    ज़िंदगी उलझे हुए रेशम कस गुच्छा हो गई

    उत्तर देंहटाएं
  35. ANURAG ji aapke blog ke template me kuch gadbadi hai,MOZILA FIREFOX me to aasani se khulta hai par IE me mushkil aa rahi hai.kuch tippaniya idhar udhar ho rahi hai,
    aapki ye philsophy bahut khoob hai ,mujhe apne hostal dino ki yaad dilati hai.
    @neelima ji lovely ji ne kuch line likh kar sirf ye kaha tha ki mai ek behooda kavita likh rahi hun.

    उत्तर देंहटाएं
  36. बेतरतीब सी जिंदगी पर तरतीब से संजोए शब्दों ने एक तस्वीर दिखाई। भले ही धुंधली सी।

    उत्तर देंहटाएं
  37. sachmuch aisa laga jaise sabke dil ki baat aapne in shabdon mein kah di ho....very true and very touchy.

    उत्तर देंहटाएं
  38. zindagi ka matlab khaas hai , batna unme khushiya jo apke aas pass hai, jindagi ka matlab jeena hai , gum bhi ho to koshish karke muskurana hai........
    very emotional, as far as i found it.

    उत्तर देंहटाएं
  39. sahi doc saab ahi zindagi hai , adhuri kaha e nazm pori hai , well am here only just to busy in between,then didnt had net connection for few months.hv gudday mehek

    उत्तर देंहटाएं
  40. जिंदगी का मतलब ......................................दोस्ती है ...
    ज़िँदगी............ ज़िँदादीलि का नाम है !
    - लावण्या

    उत्तर देंहटाएं
  41. अनुराग भाई, क्यो रुलाते है वो सब याद दिला कर| हम ज्यो ज्यो बडे होते जा रहे है, वैसे वैसे और भावनात्मक रिश्तो के प्रति असंवेदनशील, खुदगर्ज और बेरस से होते जा रहे है| कभी कभी लगता है पीछे मुड कर जिन्दगी की कुछ वैसी शाम और सुबह, मोहल्ले या होस्टल के ४ यार, वो आवारगी, वो दिल्ल्गी, वो मसुफियत, वो लाचारगी, वो दीवानगी, वो पागलपन, वो "लाजो", वो "बसंती" , वो "पटाखा".... लपक कर ले आये| इन सब को याद दिलाने का बहुत बहुत शुक्रिया....

    उत्तर देंहटाएं
  42. ज़िन्दगी का बहुत अलग सा रूप ,जो मेरे लिए अनजिया ,या कहानियो सा है......मेरे लिए जीवन, सांझ की खुली हवा में,चिंतारहित,नदी का किनारा ,और रजनीगंधा की गुलाबी कोंपल संग मन में राग का स्त्रोत बनता जीवनसाथी.....कभी शायद सभी को जीवन जीने का मौका मिले .......यही दुआ ...

    उत्तर देंहटाएं
  43. जिंदगी का मतलब है..................दोस्ती

    उत्तर देंहटाएं
  44. zindagi ka matlab hai..............

    bahut acchal ikha hai anuraagji

    उत्तर देंहटाएं
  45. jindgi ke kai matlab hoten hain. aapne matlab talashne ka kaam kiya or matlab jo v dikhen hain sahi hain. jandgi ke mayane har inshan ko samajhna chahiyen.

    उत्तर देंहटाएं
  46. कहीं कुछ लाइनें सुनी थीं ,याद आ रही हैं ;
    ज़िंदगी तूने मुझे जीने को दी ,जी मैंने
    तूने कहा ,मुक़द्दर में है , पी मैंने
    मै ना पीता तो, तेरा लिखा ग़लत हो जाता
    तेरे लिखे को निभाया ,ये खता ,की मैंने

    उत्तर देंहटाएं
  47. SIR I READ YOU MANY TIMES .YOU CAN SEE THE THINGS OUT OF BOX WITH POSITIVE APPROACH .
    JINDAGI.......
    ALL LINES ARE SO SWEET.
    -VIVEK

    उत्तर देंहटाएं
  48. ज़िन्दगी का मतलब
    उँगली पकड कर पीछे पडी ख्वाहिशोँ को
    एक एक करके निबटाना है
    ज़िन्दगी का मतलब
    कई छोटी छोटी ज़िदोँ को
    तकिये के नीचे दबाना है...
    ज़िँदगी मतलब निकल चुके बहुत
    आओगी कब ये बताना...

    उत्तर देंहटाएं
  49. ज़िंदगी वो इक नाम भी है,
    जिसके संग ज़िंदगी गुज़ार सकें..
    वो शख़्स भी आपकी ज़िंदगी ही है
    जो आपकी ज़िंदगी संवार सके...

    सर, जिस बेतरतीबी से आपने लिखा है.. उसी में मज़ा आ रहा है। ना इसमें बनावट लग रही है, ना घटिया अलंकारों का शोर। जो है वो काफी natural लग रहा है।

    उत्तर देंहटाएं

कुछ टिप्पणिया कभी- कभी पोस्ट से भी सार्थक हो जाती है ,कुछ उन हिस्सों पे टोर्च फेंकती है ... .जो लिखने वाले के दायरे से शायद छूट गये .या जिन्हें ओर मुकम्मिल स्पेस की जरुरत थी......लिखना दरअसल किसी संवाद को शुरू करना है ..ओर प्रतिक्रिया उस संवाद की एक कड़ी ..

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails